Quick Link

संकट की घड़ी में साथ है सरकार सांसद ने किया दर्जन भर गावों का दौरा

DSC_0054झालावाड़, 17 मार्च। सांसद दुष्यंत सिंह ने मंगलवार को झालावाड़ जिले के ओलावृष्टि प्रभावित दर्जन भर गावों का दौरा कर हालातों का जायजा लिया। सांसद ने आपदा पीडि़त किसानों की कुशल क्षेम पूछी और कहा कि संकट की इस घड़ी में सरकार पूरी तरह उनके साथ है। सांसद सिंह ने ग्रामीणों की दुख तकलीफों को गम्भीरतापूर्वक सुना और सरकार की ओर से हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया।

सूलिया से सुनेल के बीच ग्रामीणों ने फसली ऋण सीमा डेढ़ से बढ़ाकर तीन वर्ष करने की मांग रखी। किसानों ने मुआवजे का आंकलन हेक्टेयर के स्थान पर प्रति बीघा के हिसाब से करने की मांग रखी। सामिया और नलखाड़ी में अफीम किसानों ने ओलावृष्टि से बिखरे हुए डोडे दिखाते हुए फसल की तबाही की जानकारी दी। सांसद ने इस पर नारकोटिक्स उपायुक्त से फोन पर चर्चा कर उन्हें नुकसान का सर्वे करवाने के निर्देश दिए। संतरे की तबाह हुई फसल का जायजा लेते हुए उन्होंने कहा कि संतरा उत्पादकों को राहत के लिए विशेष पैकेज लागू करने के प्रयास किए जाएंगे। सेमली में अंधड़ और बरसात से क्षतिग्रस्त हुए मकानों को देखकर दुष्यंत सिंह काफी व्यथि त दिखाई दिए। उन्होंने साथ चल रहे जिला कलक्टर विष्णु चरण मल्लिक से कहा कि इस गांव के लोगों को राहत देने में किसी प्रकार की लापरवाही ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए।

बाइक पर पहुंचे आकोदिया: सांसद दुष्यंत सिंह के काफिले को सुनेल से आकोदिया के रास्ते में सड़क निर्माण के कारण रुकना पड़ा। एक पल तो यह स्थिति बनी कि शायद आगे नहीं निकल पाएंगे, लेकिन युवा सांसद ने तत्काल ही वहां से गुजर रहे एक बाइक सवार को रोका और रवाना हो गए।

यह रहे साथ: सांसद के काफिले में विधायक रामचंद्र सुनारीवाल, नरेन्द्र नागर, कंवरलाल मीणा, जिला प्रमुख टीना भील, वरिष्ठ नेता श्रीकृष्ण पाटीदार, श्याम शर्मा, प्रधान कन्हैयालाल पाटीदार, मुकेश चेलावत, संजय जैन ताऊ, नागेश शर्मा, जिला कलक्टर विष्णु चरण मल्लिक सहित अन्य अधिकारी शामिल रहे।