Quick Link

बी. एम. एस. (बूथ मेनेजमेन्ट सिस्टम)

बी.एम.एस. की आवश्यकता:-

सामान्य तौर पर चुनाव के दौरान ही हमें हमारे पोलिंग बूथ एजेन्ट व बूथ प्रभारी की आवश्यकता पडती है जिन्हें मतदान दिवस की जिम्मेदारी दी जाती है, परन्तु चुनाव के पश्चात् भी हमे ऐसे कार्यकर्ताओ की आवश्यकता पडती है जो कि उस पोलिंग बूथ की मुख्य समस्याओ एवम् वहां की स्थिति से हमे समय समय पर अवगत कराते रहें। इस बात को ध्यान में रखते हुए हमने इस कार्यक्रम बी.एम.एस. की अवधारणा बनाई जिससे निम्नाकिंत कार्याे का सफल क्रियान्वयन किया जा सके:-

1. प्रत्येक पोलिंग बूथ के सामाजिक कार्यकर्ताओ को चिन्हित करना जिससे हर समाज के लोगो से हम सीधे सम्पर्क मे रहे।

2. बूथ कार्यकर्ताओ के माध्यम से उस क्षेत्र की छोटी से छोटी समस्या से हम सीधे अवगत रहेगे।

3. पोलिंग बूथ क्षेत्र का विकास सही समय पर व सही प्रकार से बी.एम.एस. के माध्यम से सम्भव है।

4. गलत सुचनाओ पर ध्यान न देते हुए क्षेत्र के दूरस्थ इलाके से सीधा सम्पर्क स्थापित करना।

5. अच्छे कार्यकर्ताओ की पहचान कर उनसे निरन्तर सम्पर्क मे रहकर उनकी समस्याओ का समाधान कर सके।

6. बूथ कार्यकर्ताओ का पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से सीधा सम्पर्क ।

बी.एम.एस. की कार्यप्रणाली:-

प्रत्येक पोलिंग बूथ पर कम से कम 10 बूथ कार्यकर्ताओ को पंजीकृत करने का लक्ष्य निर्धारित किया। इस हेतु बूथ कार्यकर्ता को उस पोलिंग बूथ का मतदाता होना आवश्यक है। (ताकि उस पोलिंग बूथ की समस्याओ एवम् स्थिति की उसे पूर्ण जानकारी हो, साथ ही पोलिंग बुथ पर रहने वाले सभी मतदाताओ से परिचित हो।

एक विधानसभा को लगभग 4-5 भागो मे विभाजित किया गया है, इन भागो मे से ऐसे स्थान का चयन करते है जहां पर हम इन बूथ कार्यकर्ताओ का पंजीकरण कर सकें, 8 युवाओं की एक टीम कम्प्युटर लेब के साथ चयनित स्थान पर जाती है। जिसकी जानकारी पहले से उस क्षेत्र के कार्यकर्ताओ को पहुचा दी जाती है वहां के मण्डल अध्यक्ष व पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता इसकी पुर्ण जिम्मेदारी के साथ इसकी व्यवस्था करते है। उस स्थान पर पहंचकर बूथ कार्यकर्ताओ को एक पंजीकरण फाॅर्म दिया जाता है जिसके साथ वे अपने मतदाता पहचान पत्र की प्रति एवम् एक फोटो सलग्न करके फाॅर्म भरकर हमारी टीम के पास लाते है जिसे जांच करके कम्प्युटर मे फीड कर देते है इसके पश्चात् उन्हे एक आई. डी. तुरन्त तैयार करके देते है। इस आई. डी. कि विशेषता यह है कि इसमे बार कोड है, जिसके माध्यम से हम एक बार कोड रीडर से सिर्फ एक क्लिक से समस्त जानकारी कम्प्युटर स्क्रीन पर प्रदर्शित कर सकते है।

इस फाॅर्म के द्वारा हमारे पास उस कार्यकर्ता की पूर्ण जानकारी जैसे पता. मोबाईल नम्बर ई-मेल आई. डी. एवम् जाति. शिक्षा आदि पूर्ण जानकारी हमारे बी.एम.एस. सोफ्टवेयर में मौजुद रहती है जिसके आधार पर हम कभी भी आवश्यकतानुसार कार्यकर्ता से सम्पर्क करके क्षेत्र की समस्या व विकास की रिर्पोट बना सकते है।

बी.एम.एस. के प्रति उत्साह:-

इस कार्यक्रम मे कार्यकर्ताओ ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया कार्यकर्ता इतने उत्साहित थे कि ज्यादातर पोलिंग बूथ पर 10 से अधिक कार्यकर्ता पंजीकृत किये गये तथा कुछ पोलिंग बूथ पर 40 से 77 तक कार्यकर्ता पंजीकृत किये गये है। इस कार्यक्रम में हमने अधिक से अधिक कार्यकर्ताओं को इसलियें पंजीकृत किया ताकि प्रत्येक जाति व वर्ग आदि के कार्यकर्ता हमारे पास पंजीकृत रहें। एक विधानसभा में हमने 3000 हजार से अधिक कार्यकर्ताओ को पंजीकृत किया हैं जिनकी कुल संख्या 23013 जो कि बारां – झालावाड जिले के 8 विधानसभाओ के बुथ कार्यकर्ता है।

इन कार्यकर्ताओ में मुख्यतः युवा कार्यकर्ता है कई स्थानो पर महिलाओ में भी इस कार्यक्रम के प्रति उत्साह देखा गया है एवम् वह भी हमारे बी.एम.एस. कार्यक्रम मे पंजीकृंत हुई है। क्षेत्र के सांसद, आठों विधानसभा के विधायकों, मण्ड़ल अध्यक्ष, पार्टी के वरिष्ट कार्यकर्ता भी हमारे बी.एम.एस. कार्यक्रम बूथ कार्यकर्ता के रूप में पंजीकृत हुऐ है। भिन्न भिन्न जाति. धर्म सम्प्रदाय एवम आयु वर्ग के लोगो में अधिक उत्साह के साथ मे इस बी.एम.एस. कार्यक्रम से जुडे एवम पंजीकृत करवाया व जिम्मेदार बूथ कार्यकर्ता बने।

बी.एम.एस. में पंजीकृत हुए कार्यकर्ताओ की एक अलग से पहचान बन गई है । यह कार्यकर्ता अब एक जिम्मेदार कार्यकर्ता के रूप में उभरकर आये है। समय समय पर हम इनके सम्पर्क मे रहते है, इसके लिए हमने बी.एम.एस. काॅल सेन्टर भी स्थापित किया है जिसके माध्यम से इनके निरन्तर सम्पर्क मे रहते है ओर हम उस क्षेत्र की स्थिति व जनसमस्याओं आदि से अवगत रहते है। इन कार्यकर्ताओ को हम विभिन्न आयु, वर्ग, जाति, शैक्षणिक योग्यता, गांव, ग्राम पंचायत, व तहसील, जिला आदि के आधार पर कार्य विभाजित कर सकते हैै।

बी.एम.एस. कार्यकर्ताओ को भविष्य मे कई प्रकार के लक्ष्य देने का प्रावधान भी रखा गया है।

इन बी.एम.एस. कार्यकर्ताओ के माध्यम से हम निरन्तर पोलिंग बुथ के मतदाताओ व उनकी समस्याओ से अवगत रहते है।

इन बी.एम.एस. कार्यकर्ताओ कि मदद से पोलिंग बुथ की हर सुक्ष्म से सुक्ष्म समस्या का समाधान भी तुरन्त सम्भंव होगा।

प्रोत्साहन:-

हमारे लिए यह बडे गर्व कि बात है कि हमारी मुख्यमंत्री आदरणीय श्रीमति वसुधंरा राजे स्वयं बूथ कार्यकर्ता के रूप मे पंजीकृत हुई है एवं उन्हौने स्वयं बी.एम.एस. कार्यक्रम से जुडकर इस कार्यक्रम को प्रोत्साहित किया है एवं बूथ कार्यकर्ताओ को इस कार्यक्रम से जुडने के लिए मार्गदर्शित किया है। उन से प्रेरणा पाकर बूथ कार्यकर्ता इस बी.एम.एस. कार्यक्रम से जुड़कर इसके महत्व को समझते हुए, इस कार्यक्रम को इसके लक्ष्य तक पहुचँाने मे अवश्य सहयोग करेगें।